चेहरे की ख़राब रंगत से वर्तमान समय में पत्येक व्यक्ति परेशान है. प्रदूषण, तनाव और अपर्याप्त देखभाल से रोमछिद्र भर जाने से मुँहासे और ब्लैकहैड जैसी समस्या हो सकती है.

हालांकि पहले केवल ब्यूटी सैलून आदि से सम्बंधित लोग ही ऐसे समस्यायों का समाधान करने में सक्षम थे, परन्तु आज हर लड़की पेशेवरों की भांति अपनी त्वचा का देखभाल कर सकती है. उदाहरण के लिए, Princess Mask — कालापन हटाने वाला असाधारण मास्क जो कि त्वचा की सफाई में आपकी मदद करता है.

Princess Mask क्या है?

Princess Mask एक शक्तिशाली उत्पाद है जिसे कि प्राकृतिक घटकों के मिश्रण से तैयार किया गया है. यह त्वचा की प्राथमिक समस्यायों का निराकरण करता है:

  • ब्लैकहैड्स
  • चहरे पर दाने
  • मुँहासे
  • चेहरे के धब्बे

यह मास्क उन लोगों के लिए ख़ासतौर पर बनाया गया है जो कि चेहरे कि बारीक़ रेखाओं को तुरंत सही करना चाहते हैं. प्राकृतिक घटकों का एक उन्नत मिश्रण त्वचा की देखभाल के लिए इसको रामबाण उत्पाद बना देता है.

प्राकृतिक घटक

आई.टी. के क्षेत्र में रह रही लड़कियों में प्राकृतिक सौंदर्य प्रसाधन और चेहरे की देखभाल के प्रति बहुत रुझान बढ़ा है. यहां तक ​​कि सबसे अधिक मांग रखने वाले ग्राहक भी Princess Mask के चार सक्रिय प्राकृतिक घटकों से सदैव संतुष्ट रहेंगे:

  • बांस की लकड़ी का कोयला
  • अंगूर तेल
  • गेहूं के जर्म
  • विटामिन

चलो प्रत्येक घटक के बारे में और अधिक जानें.

चारकोल लंबे समय से अपनी शुद्ध गुणों के लिए जाना जाता रहा है. इसको पानी का शुद्धिकरण करने और शरीर को  डेटोक्स करने में भी प्रयोग में लाया जाता है. कॉस्मेटोलॉजी में बांस के कोयले तत्वों को रोमछिद्रों की गहरी सफाई और सीबियम ने नियंत्रण के लिए प्रयोग में लाया जाता है.

अंगूर का तेल चेहरे की जलन को शांत करने के साथ और मेटाबोलिक प्रक्रियाओं को सामान्य करता है. प्रयोग के दौरान आप Princess Mask के अन्य कई फ़ायदों का भी अनुभव कर सकते हैं जिनमे प्रमुख है -सफेदी का बढ़ना.

गेहूं के जर्म त्वचा का पुनर्जनन करते हैं, रंग से सम्बंधित विरक्तियों में सुधार लाते हैं और मामूली क्षतियों को भी ठीक करने का कार्य करते हैं. अंकुरित गेहूं में पाये जाने वाले विटामिन कॉम्प्लेक्स प्रो-विटामिन बी 5 (जिसे डी-पैन्थिनोल के नाम से भी जाना जाता है) का भी घटकों में योगदान करता है. यह घटक त्वचा को पोषण प्रदान करता है और एक जलन नाशक तत्व के रूप में कार्य करता है, जिससे सूखापन और चेहरे की रंगत में किसी भी प्रकार का असंतुलन नहीं आ पाता है. यह प्रयोग के लिए बहुत ही सौम्य और सुरक्षित है.

Princess Mask का प्रयोग कैसे किया जाता है?

इस पील-ऑफ मास्क का उपयोग करना बहुत ही आसान है. स्टीम फेसिअल के माध्यम से पहले चेहरे की त्वचा को तैयार करें जिससे आपके रोमछिद्र खुल जायेंगे और शुद्धिकारण का प्रभाव बढ़ जायेगा.

इस मास्क को समान रूप से चेहरे पर लगायें, साथ ही आँख, होंठ और भौहों के आसपास के क्षेत्रों में इसे लगाने से परहेज़ करें. इस मास्क की पतली पर्त ही चेहरे पर लगायें जिससे इसे आसानी से निकाला जा सके. इसके अलावा इस बात का ध्यान रखें कि उत्पाद को बहुत किफ़ायत के साथ में प्रयोग में लायें.

अब आप आराम कर सकते हैं! अपना पसंदीदा टीवी कार्यक्रम देखें या फ़िर ध्यान संगीत आदि का आनंद लें. जिससे यह मास्क अच्छी तरह से सूख जाये, आमतौर पर इसे लगभग 25 मिनट लगते हैं. इस दौरान इसके सभी घटक आपकी त्वचा पर अपना-अपना कार्य करेंगे और इसे पोषण प्रदान करेंगे.

इसके बाद में इसे किनारों से हटाने का प्रयास करें, इसमें बिलकुल भी जल्दबाजी न करें अन्यथा इससे दर्द भी हो सकता है. जरूरत पड़ने पर किसी भी छूटे हुए अवशेष को छूटाने के लिए गीली चेहरा करके किसी तरल पदार्थ से हटायें. पूरी प्रक्रिया के बाद रोमछिद्रों को बंद करना अतिआवश्यक है. इसके लिए चेहरे पर हल्के हांथों से बर्फ रगड़ें.

Princess Mask के परिणामों को बढ़ाने के लिए, आपको पूरा कोर्स करना चाहिए. इसके कोर्स की अवधि एक महीने की है, जिसमें प्रति सप्ताह आपको तीन बार इस मास्क का प्रयोग करना पड़ेगा. कोर्स के बाद आप अतिरिक्त मास्क का भी ऑर्डर कर सकते हैं ताकि समय-समय पर ज़रुरत के मुताबिक़ आप इनका प्रयोग कर सकें जिससे आपकी त्वचा की रंगत सदैव बरक़रार रहे.

ब्लैक मास्क के परिणाम

कई समीक्षक इस बात की पुष्टि करते हैं कि Princess Mask वास्तव में काम करता है. पहले प्रयोग से ही, त्वचा मख़मल की तरह चिकनी लगने लगती है, 2 सप्ताह के बाद त्वचा में स्थिति में काफी सुधार आता है.

शुक्र है इसके प्रो-विटामिन बी 5 त्वचा की यह त्वचा को नमी प्रदान करता है और बारीक रेखाओं और दाग़ों को कम करता है. इसके द्वारा की गयी त्वचा की गहरी सफाई भी उल्लेखनीय है. मास्क के एक महीने के उपयोग के बाद, ब्लैकहैड्स और चेहरे के दाने हमेशा के लिए गायब हो गए.

क्या इसका कोई दुष्परिणाम है?

शुक्र है इस पील-ऑफ मास्क के सक्रिय तत्वों के अनूठे मिश्रण की कि इसका कोई भी गलत परिणाम नहीं नज़र आता है.इसके प्रयोग के संबंध में केवल आपको अपनी त्वचा की प्रकृति का ध्यान देना है.

विशेषज्ञ इस बात पर बहुत जोर देते हैं कि गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान स्किनकेयर उत्पाद के चयन में बहुत सावधानीपूर्वक बरतनी चाहिए. एक बढ़िया समाधान खोजने के लिए आप व्यक्तिगत रूप से किसी डॉक्टर की सलाह को भी ले सकते हैं.

अंत में, यह बात उल्लेखनीय है कि Princess Mask की घटक विकास प्रक्रिया में त्वचाविज्ञान अनुसंधान द्वारा स्थापित सभी आवश्यक सुरक्षा उपायों को अपनाया है और यह इसके सुरक्षित होने का दावा करता है. परीक्षणों से यह बात पता चलती है कि इस मास्क के प्रयोग के पहले सप्ताह में ही ज्यादातर महिलाओं ने त्वचा की रंगत और आभास में अंतर महसूस किया है.

LEAVE A REPLY